महिला कर्मियों का शोषण

महिला कर्मियों का शोषण दिन ब दिन बढ़ता ही जा रहा है जोकि हमारे समाज और देश के लिए एक बहुत बड़ा अभिशाप है। बलात्कार के अलावा लैंगिक शोषण भी आम है, जो महिला कर्मचारी का मालिक द्वारा, महिला कैदी का जेल-कर्मियों द्वारा, महिला श्रमिकों का ठेकेदारों द्वारा और महिला मरीजों का अस्पताल कर्मियों द्वारा होता है। रोजगार के स्थानों के अलावा भी महिलाओं को अन्य स्थानों पर शोषित किया हा रहा है। होटल्स में, पबो में, बारों में वेश्यावृति जैसे घिनौने कार्य भी हमारे देश में चल रहे हैं क्योंकि गरीबी, भुखमरी व लाचारी ने महिलाओं को वेश्यावृत्ति के इस जघन्य कृत्य में ऐसा जकड़ा है कि वे चाहकर भी इससे निकल नहीं पा रही हैं।

महिला कर्मियों के साथ-साथ,कहीं भी किसी और महिला के साथ अन्याय होगा तो किसान मजदूर सेना चुप नही बैठेगी। महिला के विरुद्ध होने वाले किसी भी प्रकार के अत्याचर से किसान मजदूर सेना के कार्यकर्ता सामना करगें और न्याय दिलवाया जायेगा।