अतिवर्षा से बर्बादी पर सरकार अपनी तरफ से किसानों को दे विशेष राहत पैकेज : जयप्रकाश दूबे उर्फ जेपी भैया

विगत एक सप्ताह मे 3 बार हुई ओलावृष्टि और बारिश से किसानों की गेहूं की फसल बर्बाद हो गई जिस पर किसान मजदूर सेना के राष्ट्रीय अध्यक्ष जयप्रकाश दूबे उर्फ जेपीभैया ने किसानों के दर्द को समझते हुए सुबह के मुख्यमंत्री को पत्र लिखा है। किसान मजदूर सेना द्वारा लिखे गए इस पत्र में पत्र में फसल नुकसान की भरपाई करने के लिए सरकार को अपने तरफ से विशेष राहत पैकेज की घोषणा करने की मांग की गई है।

गोंडा, बलरामपुर, बहराईच, बस्ती, गोरखपुर सहित सहित प्रदेश के अन्य जिलों में जारी बारिश व ओलावृष्टि ने किसानों की कमर तोड़ दी है। विगत एक सप्ताह में तीन से चार बार हुई ओलावृष्टि और बारिश के चलते हजारों किसानों की खड़ी अथवा कटी हुई फसल पूरी तरह बर्बाद हो गयी है। वहीं केले की खेती करने वाले कुछ किसानों को भी इस दैवीय आपदा का कोप भाजन होना पड़ा है।

जयप्रकाश दूबे उर्फ जेपी भैया ने बताया है कि जिन राहत की बात शासन प्रशासन के तरफ से कहीं गयी है वह फसल बीमा योजना जो निजी क्षेत्र की बीमा कंपनियों द्वारा दिया जाने वाला भुगतान है जिसका प्रीमियम सीधा किसान के बैंक से कटता है। ऐसे किसानों की संख्या बहुत कम है व कुछ किसान तो जानते तक नहीं कि उनके खाते से ऐसी कोई रकम काटी जाती है। इसलिए सभी किसानों को जिनकी फसल बर्बाद हुई है उनको सिर्फ सरकारी खजाने से घोषित किया गया राहत पैकेज ही किसानों में जान फूंक सकता है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ व कृषि मंत्री सूर्य प्रताप शाही को सम्बोधित पत्र को जिलाधिकारी गोन्डा व शासन को ईमेल / ट्वीट के माध्यम से भेजकर अविलंब किसानों की बर्बाद हुई फसल कि लेखपाल द्वारा जांच कराकर विशेष राहत पैकेज की तत्काल घोषणा करने मांग की है।

यदि किसान मजदूर नेता जयप्रकाश दूबे की बातों को सरकार गम्भीरता से लेगी तो अवश्य ही कोरोना महामारी व दैवीय आपदा से टूट चुका किसानों को सम्भलने का एक अवसर और मिल जाएगा।

#अन्नदाता को #प्रणाम# जेपीभैया ने #किसानों की #बर्बाद_हुई_फसलों को लेकर #मुख्यमंत्री जी से की #विशेष राहत #पैकेज की मांग। #जयप्रकाश_दूबे #जिन्दाबाद