दूसरे राज्यों में फंसे श्रमिकों/प्राइवेट कर्मियों के लाने लिए मा. जयप्रकाश जी ने सरकार को लिखा पत्र

संगठन के मुखिया जयप्रकाश दूबे जेपीभैया द्वारा प्रधानमंत्री, देश के सभी मुख्यमंत्रियों व सैकड़ों सांसदों विधायकों को पत्र लिखकर कोरोना वायरस लॉक डाउन में फंसे प्रवासी मजदूरों / प्राइवेट कर्मचारियों और उनके परिवारी जनों को वापस लाने के लिए मांग की। आदरणीय जय प्रकाश जी ने सरकार से मांग करते हुए कहा कि लॉक डाउन के दौरान जो लोग बाहर फस गए हैं उन लोगों के पास रोजी-रोटी का संकट खड़ा हो गया है । न लोगों के पास रहने के लिए किराया बचा है न ही खाने के लिए पैसा। अतः राज्य सरकारें शीघ्र ही औद्योगिक शहरों से प्रवासी मजदूरों / प्राइवेट कर्मचारियों सहित दूसरे राज्य में फंसे हुए अन्य लोगों को सरकारी खर्च पर लाया जाए।

साथ ही साथ उन्होंने मांग की कि जिन लोगों के पास खुद के वाहन हैं उनको आसानी से आने के लिए परमिशन दिया जाए। इस आशय का पत्र उन्होंने 27 मार्च को लिखा था जिसको देश के तमाम सारे प्रतिष्ठित मीडिया संस्थानों ने भी अपने समाचार माध्यमों में समावेशित किया है।

kisan majdoor sena